देहरादून डीटीआई न्यूज़ विधानसभा चुनाव-2022 से ठीक पहले कांग्रेस ने सख्ती दिखाते हुए पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय से सभी जिम्मेदारियां वापस ले ली हैं। बीजेपी से नजदीकि बढ़ाने पर हाईकमान ने सख्ती दिखाई है। साथ ही, सूत्राें की मानें तो पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बाेलने की वजह से भी उपाध्याय पर सख्ती की गई है।किशोर को इससे पहले भी कई बार चेतावनी दी गई थी

, लेकिन आज कांग्रेस ने सख्ती दिखाते हुए उपाध्याय से सभी अहम जिम्मेदारियां वापस ले ली हैं। कांग्रेस ने चुनाव से ठीक पहले पूर्व अध्यक्ष किशोर से सभी जिम्मेदारियां वापस लेते हुए सभी को चौंका दिया है। पिछले कई हफ्तों से किशोर के भाजपा जाने की चर्चाओं का बाजार बहुत गर्म था। इसी के बीच उपाध्याय ने साफ किया था कि वह किसी भी सूरत में कांग्रेस छोड़ बीजेपी ज्वाइन नहीं करेंगे। कहा था कि कांग्रेस में रह कर ही वह टिहरी से ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने की बातों को उन्होंने अफवाह करार दिया।


उपाध्याय को लेकर लंबे समय से ऊहापोह की स्थिति बनी हुई थी और उनके हर मूवमेंट को संदेह की नजर से देखा जा रहा था। कभी पीएम नरेंद्र मोदी की देहरादून में हुई रैली में उनके भाजपा में शामिल होने की अफवाह उड़ी। कभी उनके दूसरे दलों में जाने की चर्चा रही। अटकलों के दौर के बीच किशोर ने कहा था कि वनाधिकार के मुद्दे पर वे सभी दलों के नेताओं से मिल रहे हैं।

By DTI

error: Content is protected !!