हरिद्वार,डीटीआई न्यूज़।उत्तराखंड में मंगलवार को दिन की शुरूआत बारिश के साथ हुई। राजधानी देहरादून समेत अधिकतर इलाकों में तड़के ही बारिश शुरू हो गई थी जो सुबह थमी। वहीं, देहरादून सहित सभी जिलों में मौसम विभाग ने अगले चार दिन भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
दून, नैनीताल, चंपावत के साथ ही पर्वतीय क्षेेत्रों में भारी बारिश की संभावना है। कहीं-कहीं गर्जना के साथ बिजली चमकने और बारिश की संभावना है। बारिश का यह सिलसिला आगे चार दिन यानी 17 सितंबर तक जारी रहेगा। मंगलवार को नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर एवं पौड़ी में कहीं-कहीं भारी वर्षा की संभावना है।


देहरादून में आसमान में आंशिक रूप से आमतौर पर बादल छाए रहेंगे। गर्जना के साथ हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। वहीं, सोमवार सुबह दून में बादल छाए रहे। दोपहर और शाम के समय कई क्षेत्रों में तेज बौछारें भी पड़ीं। इससे कई जगहों पर जलभराव भी हुआ और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। 
मोरी जरमोला धार के पास एक बाइक सवार युवक के ऊपर पेड़ गिर गया। इस दौरान युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक को 108 एंबुलेंस के माध्यम से सीएससी पुरोला में भर्ती कराया गया। 
मोरी जरमोला धार के पास एक बाइक सवार युवक के ऊपर पेड़ गिर गया। इस दौरान युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक को 108 एंबुलेंस के माध्यम से सीएससी पुरोला में भर्ती कराया गया। 

यमुनोत्री धाम सहित यमुना घाटी मे रातभर हो रही भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। वहीं, नदी नाले भी ऊफान पर हैं। मलबा आने से यमुनोत्री हाईवे जगह-जगह बंद हो गया हो गया है। वहीं, गंगोत्री हाईवे भी सुखी टॉप के पास पत्थर व मलबा आने के कारण बंद है। उत्तरकाशी में 11 ग्रामीण संपर्क मोटर मार्ग यातायात के लिए बाधित हैं।

उफान पर आया झर्जरगाड़ नाला
यमुनोत्री हाईवे पर बारिश के बाद झर्जरगाड़ नाला अचानक ऊफान पर आ गया। इस दौरान यमुनोत्री क्षेत्र से इंटर कॉलेज जा रहे स्कूली छात्र-छात्राएं भी रास्ते में ही फंस गए। दोपहर बाद यमुनोत्री हाईवे झर्जरगाड़ के पास खोल दिया गय, लेकिन आवाजाही जोखिम भरी बनी हुई है।

By DTI

error: Content is protected !!