देहरादून,डीटी आई न्यूज़।जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में घायल हुए टिहरी निवासी सूबेदार अजय रौतेला और पौड़ी निवासी नायक हरेंद्र सिंह शहादत को प्राप्त हुए हैं। सूबेदार अजय रौतेला और नायक हरेंद्र सिंह भी सेना के उस सर्च ऑपरेशन में शामिल थे, जिसमें गुरुवार को उत्तराखंड के दो जवान शहीद हो गए थे। इस दौरान वह घायल हो गए थे और लापता हो गए थे। 

सेना और प्रशासन से कोई आधिकारिक सूचना नहीं
नरेंद्रनगर ब्लाक के खाड़ी-रामपुर गांव निवासी सूबेदार अजय रौतेला पुत्र स्व. अब्बल सिंह रौतेला और लैंसडोन के नायक हरेंद्र सिंह आतंकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए हैं। मेंढर तहसील में भाटादूड़ियां के नाड़ खास जंगल से शनिवार शाम को शहीद सूबेदार (जेसीओ) अजय सिंह और हरेंद्र सिंह का शव निकाल लिया गया। 

सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि 14 अक्तूबर को आतंकियों से भाटादूड़ियां के नाड़ खास जंगल में आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई थी। सूबेदार अजय सिंह और हरेंद्र सिंह से संपर्क टूट गया था। इसके बाद से उनकी तलाश की जा रही थी। आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन के बीच शनिवार की शाम को उनके शव बरामद कर लिए गए हैं।
सूचना मिलते ही अजय रौतेला के परिजन देहरादून से रामपुर गांव पहुंच गए। यह खबर सुनते ही परिवार में कोहराम मच गया और गांव में मातम पसर गया। पत्नी विमला देवी, जुड़वां पुत्र सुमित और अमित का रो-रोकर बुरा हाल है।

उनके भाई दीपक रौतेला ने बताया कि 46 वर्षीय अजय रौतेला 17 गढ़वाल राइफल में थे और वर्तमान में आरआर 48 (राष्ट्रीय राइफल) में जम्मू कश्मीर में तैनात थे। उन्होंने बताया कि 12 सितंबर को ही उनके भाई अजय छुट्टी बिताकर जम्मू-कश्मीर ड्यूटी पर गए थे।

दो साल बाद उनका रिटायरमेंट था। कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि रामपुर निवासी सूबेदार अजय रौतेला के लापता होने की सूचना मिली है। आर्मी हेडक्वार्टर से संपर्क साधने का प्रयास किया जा रहा है।

आतंकी मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो जवान शहीद
इससे पहले जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो जवान शहीद हुए थे। सैन्य प्रवक्ता ने बताया था कि गुरुवार शाम से पुंछ जिले के मेंढर में काउंटर टेररिस्ट ऑपरेशन के दौरान भारी गोलीबारी हुई। जिसमें राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और राइफलमैन योगंबर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में शहादत को प्राप्त हुए। शहीद राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी (उम्र 26 साल) जिला टिहरी गढ़वाल और रायफलमैन योगंबर सिंह (उम्र 27 साल) जिला चमोली के रहने वाले थे।

By DTI

error: Content is protected !!