देहरादून:डीटी आई न्यूज़। उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को लेकर सियासी उथल-पुथल मची हुई है. इसी बीच कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने अपनी नाराजगी दूर होने की खबर का खंडन कर दिया है. हरक सिंह रावत ने एक चैनल के साथ से बात करते हुए कहा कि उन्हें बेहद ज्यादा दुख है कि उनकी जनता को लेकर की गई मांग को इतने लंबे समय बाद भी पूरा नहीं किया गया. उधर कैबिनेट की बैठक में मेडिकल कॉलेज के लिए 5 करोड़ की रकम की व्यवस्था करने पर उनकी नाराजगी और भी ज्यादा बढ़ गई है.गौर हो कि बीजेपी के हैवीवेट मंत्री हरक सिंह रावत इन दिनों अपनी ही सरकार से खफा चल रहे हैं. कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत अब भी सरकार के मेडिकल कॉलेज को लेकर रवैया पर नाराज हैं, यह बात खुद हरक सिंह रावत ने चैनल से बात करते हुए कही है. बता दें कि विधायक उमेश शर्मा काऊ हरक सिंह रावत से देर रात मुलाकात के बाद दावा किया था कि हरक सिंह रावत की मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद उनकी नाराजगी दूर कर दी गई है.

लेकिन हरक सिंह रावत ने कुछ चैनल को बताया कि वो अपने फैसले पर टिके हैं. उन्होंने कहा कि रात को एक विधायक ने मुझसे मुलाकात की थी. उन्होंने मेरी बात मुख्यमंत्री से करवाने की कोशिश की थी. लेकिन उन्होंने बात नहीं की.

बता दें कि गुरुवार रात को हरक सिंह रावत ने अपनी ही सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया था. उनके मुताबिक राज्य सरकार कोटद्वार में ( स्वीकृत करने को लेकर) मेडिकल कॉलेज को लटका रही है. रावत ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में वो अब काम नहीं कर सकते हैं

By DTI

error: Content is protected !!