देहरादून,डीटी आई न्यूज़।कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष पूर्व सीएम हरीश रावत ने अपनी एक बड़ी भूल में सुधार किया है। बीते रोज कांग्रेस मुख्यालय में हुई प्रेस कांफ्रेंस में रावत जोश में कह गए थे कि अब चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ा जाएगा। रावत ने आज इसे अपनी भूल माना है। ट्वीट करते हुए कहा कि कल प्रेस कांफ्रेंस में थोड़ी गलती हो गई, मेरा नेतृत्व शब्द से अहंकार झलकता है।


चुनाव मेरे नेतृत्व में नहीं बल्कि मेरी अगुवाई में लड़ा जाएगा। बकौल मैं अपने उस घमंडपूर्ण उद्बोधन के लिए क्षमा चाहता हूं,। मेरे मुंह से वह शब्द शोभा जनक नहीं है। मालूम हो कि रावत की टिप्पणी कांग्रेस के एक बड़े वर्ग को खासी नागवार गुजरी है। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह कैम्प के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि कांग्रेस में नेतृत्व तो राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी का ही मान्य है। सभी कांग्रेसजन उनके मार्गनिर्देशन में ही कार्य करते है।

By DTI

error: Content is protected !!