रामपुर(डीटी आई न्यूज़) उत्तर प्रदेश के जनपद रामपुर के एक गांव में दुल्हन के घर •बरात का इन्तजार होता रहा, लेकिन बरात नहीं आने पर मायूसी छा गई। संपर्क करने पर पता चला कि दूल्हा परिवार सहित मकान बंद करके कहीं फरार है। लड़की पक्ष विवाद के चलते पूर्व में आरोपित पक्ष के खिलाफ दुष्कर्म व दहेज उत्पीडन का मुकदमा लिखा चुका है।

गांव निवासी चौकीदार की बेटी का रिश्ता जिला बिजनौर के थाना धामपुर के गांव मिलक तखावली निवासी योगेश से हुआ था। योगेश वर्तमान में देहरादून के डायरेक्टर मेडिकल आफिस में क्लर्क है। 20 जून की रात बात आना थी। बरात की सारी तैयारी हो गई थी। मेहमान व पड़ोसी सभीबरात में पहुंच गए। लगातार मोबाइल पर संपर्क के प्रयास के • बावजूद दूल्हा के परिवार से बात नहीं हो सकी।

देर रात दूल्हा के गांव में उसके पड़ोस में जानकारी की तो पता लगा दूल्हा का परिवार घर में ताला डालकर घर से फरार हैं । इतना सुनते ही बरात में हड़कंप मच गया। घर में दुल्हन तक सूचना पहुंची तो चीख पुकार मच गई। दुल्हन माता पिता से लिपट कर रोने लगी। लगातार स्वजन के समझाने के बावजूद दुल्हन के आंसू नहीं रुक रहे थे।
दुल्हन के पिता ने बताया कि लड़का शादी में स्कार्पियो मांग रहा था। समझाने के बाद दहेज में देने को स्विफ्ट कार खरीद ली थी। इस से पहले बारात की तारीख 20 अप्रैल तय हुई थी । लेकिन दहेज में स्कार्पियो कार की मांग पर विवाद बन गया। युवती पक्ष की तरफ से होने वाले पति के खिलाफ दुष्कर्म जबकि सात अन्य के खिलाफ दहेज में स्कार्पियो कार व दस लाख रुपये मांगने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।


युवती का कहना था कि शादी की तारीख तय होने पर होने वाले पति का उसके घर आना जाना हो गया। और शादी तय होने की बात पर उसने कई बार दुष्कर्म किया। युवती ने पति योगेश, सास पिंकी देवी, पति के बहनोई विक्की सहदेव, बहन मोनिका सहदेव, दूसरे बहनोई कपिल, बहन नीलम, मामा निटिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।
बाद में समझौता होने पर शादी की अगली तारीख 20 जून तय हो गई थी। लेकिन बरात नहीं आई। थाना प्रभारी अजयपाल सिंह का कहना है कि इस मामले में थाने में कोई समझौता नामा नहीं दिया गया। और जब मुकदमा दर्ज है तो शादी की तारीख तय नहीं करना चाहिए था। जब पहले ही मुकदमा दर्ज है तो उसी के अनुसार कार्रवाई होगी।

By DTI

error: Content is protected !!