देहरादून, डीटी आई न्यूज़।खाद्य विभाग में जिला पूर्ति अधिकारियों (डीएसओ) के तबादलों को लेकर विभागीय मंत्री रेखा आर्या और खाद्य आयुक्त सचिन कुर्वे में ठन गई है। बिना अनुमोदन किए तबादलों को रेखा आर्या ने तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया। बुधवार को खाद्य आयुक्त ने छह डीएसओ के तबादले कर दिए थे।
इसकी जानकारी मिलने पर मंत्री रेखा आर्या भड़क उठी और तत्काल मुख्यमंत्री पुष्कर धामी को इसकी जानकारी दी। इसके साथ ही मुख्य सचिव डा. एसएस संधु को नाराजगी भरा पत्र भेजते हुए खाद्य आयुक्त के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। कैबिनेट मंत्री रेखा ने खाद्य आयुक्त को पत्र लिखकर तत्काल पत्रावली तलब करने के भी निर्देश दिए।

इससे मंत्री और खाद्य आयुक्त के बीच विवाद की स्थिति पैदा हो गई है। यह पहला मामला नहीं है जब कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या का अपने विभाग के अफसरों के साथ विवाद की स्थिति पैदा हुई है। इससे पहले भी कई विभागों में ऐसी स्थिति पैदा हो चुकी है।

नैनीताल के डीएसओ को लेकर खड़ा हुआ विवाद
सूत्रों के अनुसार खाद्य आयुक्त ने 20 जून को नैनीताल के डीएसओ मनोज बर्मन को बिना मंत्री के अनुमोदन के अनिवार्य अवकाश पर भेजने के आदेश कर दिए थे। इससे मंत्री खासी नाराज हो गई और उन्होंने इस आदेश को वापस करने के निर्देश दिए। लेकिन यह आदेश वापस होने की बजाए बुधवार को छह डीएसओ के आदेश जारी कर दिए गए। मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि खाद्य आयुक्त को डीएसओ का तबादला निरस्त करने को कहा गया था लेकिन छह अफसरों के तबादला आदेश कर दिए गए।


मंत्री ने कहा मनमानी कर रहे अफसर
कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि विभागीय मंत्री के अनुमोदन के बिना इस तरह की कार्यवाही किया जाना मनमानी और एकाधिकार का प्रतीत है। उन्होंने कहा कि खाद्य आयुक्त की इस कार्यवाही को किसी भी सूरत में उचित नहीं ठहराया जा सकता। उन्होंने कहा कि 20 जून के आदेश को निरस्त करने के आदेश को तामील करने की बजाए छह अन्य अफसरों के तबादले कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि खाद्य आयुक्त से इस प्रकरण पर जबाव मांगा गया है।

By DTI

error: Content is protected !!