हल्द्वानी,मुहमद कैफ खान।हल्द्वानी में शुक्रवार को सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष अजय राजौर की कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत से भिड़ंत हो गई। वे सफाई कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर मंत्री के पास गए थे। उनका पारा इतना चढ़ा कि उन्होंने मंत्री से कह दिया कि वह सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष पद को ताख पर रखकर आए हैं।
उत्तरांचल स्वच्छकार कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष राम अवतार राजौर सफाई कर्मियों की 14 सूत्री मांगों को लेकर कई समर्थकों के साथ कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत से मिलने गए थे। भीड़ में उनके बेटे और सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष अजय राजौर सबसे आगे थे।
कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने अजय राजौर को देखते ही सवाल किया कि तुम कैसे आ गए। अजय राजौर ने कहा कि कांग्रेस के बनाए गए ढांचे से सफाई कर्मचारी बहुत परेशान हैं। कर्मचारी भीख मांगने पर मजबूर हैं।

कहा कि आप (बंशीधर भगत) मेरे मुखिया हैं। यदि समस्या का समाधान नहीं करेंगे तो सफाई कर्मी अनाथ हो जाएंगे। यदि सफाई कर्मचारियों की मांगें नहीं मानीं गईं तो वे उग्र आंदोलन के लिए विवश होंगे।
कर्मचारियों ने जिला प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह और एसडीएम मनीष कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने सफाई कर्मियों को बैरकेडिंग लगाकर रोक लिया। नोकझोंक के बाद एसडीएम ने कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत से बातचीत की। कैबिनेट मंत्री से हरी झंडी मिलने के बाद सफाई कर्मियों को आवास पर भेजा गया।

फूल माला पहनाकर जिंदाबाद के नारे लगाए
आश्वासन से खुश सफाई कर्मचारी नेताओं ने कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत को फूल मालाओं से लाद दिया। इसके बाद कर्मचारियों ने जिंदाबाद के नारे लगाए। 

By DTI

error: Content is protected !!