हरिद्वार/मेरठ,हर्षिता।जब आप किसी प्रकार की भी समाज सेवा करते हैं तो आपका मकसद केवल यह होता है कि लोगों की ज्यादा से ज्यादा सेवा की जाए और इसकी एवज में पैसे का कोई लालच नहीं होता बल्कि उनके साथ सामाजिक भावना ही जुड़ी होती है अगर आपको इसी समाज सेवा के बदले में समाज में इज्जत मिले तो वही आपके लिए धन दौलत से ज्यादा है हम बात कर रहे हैं मेरठ की बेटी डॉक्टर सरिता अग्रवाल की जिनको प्रतिष्ठित विक्रमशिला हिंदी पिद्यापीठ द्वारा अपने प्रतिकुलपति की घोषणा की गई है।


मेरठ की बेटी व उत्तराखंड में हरिद्वार निवासी डॉ सरिता अग्रवाल को जिन्हें भारत सरकार द्वारा लगातार रेल मंत्रालय मे उत्तर रेलवे का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिल रहा है इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए बिहार स्थित विक्रमशिला हिंदी विद्यापीठ, भागलपुर में प्रति-कुलपति के पद पर नियुक्त किया है। डॉ सरिता ने मेरठ स्थित आर० जी० डिग्री कॉलेज से ही अपनी परास्रातक तक कि शिक्षा ग्रहण की सरिता की इस उपलब्धि पर मेरठ शास्त्री नगर स्थित उनके मायके में खुशी का माहौल बना हुआ है व उनके परिचितों की बधाईयो का तांता इनके आवास पर लगा रहा। हाल ही में भारत गौरव सम्मान से भी डॉ सरिता को सम्मनित किया जा रहा है। भारत के पूर्व मानव संसाधन मंत्री व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमेश कुमार पोखरियाल निशंक” को भी इनसे पूर्व इस सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। डॉ सरिता समाज सेवा के क्षेत्र में भी अनेकों पुरुस्कार प्राप्त कर चुकी हैं। आर के सेवा मिशन ट्रस्ट की चेयरमैन डॉ सरिता अग्रवाल शिक्षा के क्षेत्र के साथ साथ अनेको सामाजिक संस्थाओं से भी राष्ट्रीय स्तर पर जुड़ी हुई है
मेरठ जनपद का नाम रोशन करने वाली यहां की एक बेटी डॉ सरिता अग्रवाल जो विगत 25 वर्षों से हरिद्वार शहर की निवासी है को प्रतिष्ठित विक्रमशिला हिंदी पिद्यापीठ द्वारा अपने प्रतिकुलपति की घोषणा से पूरे मेरठ एवम हरिद्धार मे खुशी का माहौल है।

मूल रूप से समाज सेवा के प्रति उन का रुझान शुरू से ही है और इसी क्रम मे आज वो अनेकों संस्थाओं की संरक्षक भी है
निर्धन बच्चों एवम असहाय महिलाओं के उत्थान के लिए वो हमेशा प्रयासरत है

By DTI

error: Content is protected !!