यूक्रेन,एजेंसी।यूक्रेन के खारकीव में बमबारी के बीच अब भी कोटद्वार का एक छात्र अनुराग पंवार फंसा हुआ है। अनुराग के परिजनों को उसकी सलामती की चिंता सता रही है। बुधवार दोपहर से वह खारकीव के रेलवे स्टेशन पर फंसा हुआ है। अनुराग ने बताया कि उसे वहां से जाने वाली रेल में जगह नहीं मिल रहा है। अनुराग की स्थिति जानने के बाद परिजनों का बुरा हाल है। उन्होंने भारत सरकार से उनके बेटे को सकुशल खारकीव से निकालने की गुहार लगाई है।
कोटद्वार के जौनपुर निवासी अधिवक्ता किशन सिंह पंवार का पुत्र अनुराग पंवार यूक्रेन में एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग का छात्र है। वह अपने सहपाठियों के साथ खारकीव में फंसा हुआ है। अनुराग पिछले तीन दिन से वहां से निकलने का प्रयास कर रहा है, लेकिन बंकर के बाहर हो रही बमबारी के कारण नहीं निकल पा रहा है।
एडवायजरी ने बढ़ाई बेचैनी, उत्तराखंड के वैभव ने बताया खौफनाक मंजर तो परिजनों की बढ़ी धड़कन

बमबारी के कारण नहीं पहुंच सकी बस
अनुराग के पिता किशन पंवार ने बताया कि सोमवार को उसके साथियों ने रेल से बाहर निकलने की योजना बनाई थी। तब तक कर्नाटक के युवक की मौत की सूचना मिलते वह डर गया और बाहर नहीं निकला। मंगलवार को अपने सहपाठियों के साथ खारकीव से रोमानिया बॉर्डर जाने के लिए उसने बस बुक की थी, लेकिन बमबारी के कारण बस उन तक नहीं पहुंच सकी। जिससे वे मायूस हो गए।

बुधवार को अनुराग अपने सहपाठियों के साथ रेलवे स्टेशन के लिए निकला। वे किसी तरह बचते-बचाते दोपहर तक खारकीव रेलवे स्टेशन पहंच गए। लेकिन, रेल के अंदर भारतीय छात्रों को घुसने नहीं दिया जा रहा है। जिसके कारण वह और उसके साथी खारकीव रेलवे स्टेशन पर फंस गए हैं। यहां परिजनों को बेटे की चिंता सता रही है। उन्होंने भारत सरकार से उनके बेटे को स्वदेश लाने के लिए मदद की गुहार लगाई है।

By DTI

error: Content is protected !!